Wednesday, July 24, 2024
उत्तर प्रदेश

कई कार्य योजनायों पर चर्चा, ताकि रामगंगा जल को शुद्व एवं अविरल बनाया जा सके

मुरादाबाद। कलेक्ट्रेट सभागार मे श्री अशोक कुमार महानिदेशक राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन भारत सरकार द्वारा जिला गंगा समीति के सदस्यगण तथा संबन्धित विभागो के साथ राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के सम्बन्ध मे बैठक आहूत की गयी। जिसमे जिला गंगा समीति द्वारा राम गंगा नदी को स्वच्छ करने के सम्बन्ध मे अब तक किये गये कार्यो के संबन्ध मे तथा जलनिगम, नगर निगम, प्रदूषण नियन्त्रण विभाग, विभिन्न एनजीओ, डब्ल्यू डब्ल्यू एफ, नेहरू युवा केन्द्र द्वारा रामगंगा नदी को स्वच्छ करने हेतु विभिन्न कार्य योजनायों पर विस्तार से चर्चा की गयी ताकि रामगंगा के जल को शुद्व एवं अविरल बनाया जा सके। महानिदेशक राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन ने कहा कि रामगंगा को शुद्व करने हेतु जन आन्दोलन के साथ ही उसमे लोगो की युद्व स्तर की भागीदारी हो। उन्होने बताया कि स्कूल के बच्चो को भी इसमे शामिल किया जाये तथा हर माह जिला गंगा समीति की बैठके नियमित रूप से की जायें जिसमे रामगंगा के साथ ही जल जीवन मिशन तथा स्वच्छ भारत मिशन पर भी वार्ता की जाये। उन्होने कहा कि वर्षा जल संचय के लिए तालाबो का प्रयोग किया जाये । तालाबो के अतिक्रमणो को हटाने के साथ ही तालाब तक जाने वाले पानी के रास्ते को भी सुरक्षित किया जाये। जनपद मे रैन वार्टर हार्वेस्टिंग हेतु किये गये कार्यो की सफाई समय से करा दी जाये । जनपद मे एक जल शक्ति केन्द्र की स्थापना की जाये और जल के संबन्ध मे सम्पूर्ण जानकारी जल शक्ति केन्द्र मे रखी जाये। उन्होने कहा कि जल संचय के लिए जनपद मे जिस स्टेªक्चर की जरूरत हो उसे बनाया जाये। उन्होने बताया कि भारत मे चार सौ जल शक्ति केन्द्र बन चुके है तथा तीन सौ जल शक्ति केन्द्र ओर बनने है। उन्होन बताया कि नेचुरल फार्मिंग के तहत भी लोगो को जोडा जाये । एसटीपी द्वारा पानी का शुद्विकरण कर अच्छा लाभ कमाया जा सकता है। उन्होने कहा कि इस क्षेत्र मे जनपद मे नेशनल मॉडल स्थपित किया जाये।
जिलाधिकारी श्री शैलेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि इस क्षेत्र मे काफी समय से सभी बिन्दुओ पर नियमित रूप से कार्य हो रहा है और आप द्वारा दिये गये मार्गदर्शन के अनुसार जनपद मे कार्य किया जायेगा तथा रामगंगा किनारे गांव का चिन्हीकरण कर लिया गया है।
बैठक मे मुख्य विकास अधिेकारी श्री आनन्द वर्धन ने महानिदेशक राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन भारत सरकार को अवगत कराया गया कि जनपद मे पंचायत राज विभाग द्वारा 57 गंगा के किनारे के गांव का चयन कर लिया गया तथा नवम्बर माह मे रामगंगा को शुद्व करने हेतु रामगंगा फेस्टिवल का भी आयोजन किया गया। जनपद मे सात हजार सौक पिट का निर्माण किया गया है तीन सौ उनहत्तर तालाबो का चिन्हीकरण कर लिया गया है तथा एक 10 है0 के तालाब को भी लिया गया है।
बैठक मे अपर जिलाधिकारी प्रशासन सुरेन्द्र सिंह, डीएफओ सूरज, नगर मजिस्ट्रेट एमपी सिंह, जिला गंगा समीति के सदस्य, अधिशासी अभियन्ता जल निगम, अधिशासी अभियन्ता सिचाई विभाग, ईडीएम अनुज भट्ट, डीपीआरओ आलोक कुमार प्रियदर्शी सहित नगर निगम, प्रदूषण नियन्त्रण विभाग, विभिन्न एनजीओ, डब्ल्यू डब्ल्यू एफ, नेहरू युवा केन्द्र आदि उपस्थित रहे।