सुप्रीम कोर्ट में 34 जजों का कोटा पूरा, केंद्र ने दो नए नाम मंजूर किए, 5 साल बाद अल्पसंख्यक समुदाय के किसी जज की नियुक्ति

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट में 2 नए जजों की नियुक्ति को लेकर हरी झंडी मिल गई है. केंद्र ने कॉलेजियम की सिफारिश को 48 घंटे में मंजूरी दे दी. गुवाहाटी हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश सुधांशु धूलिया और गुजरात हाई कोर्ट के न्यायाधीश जमशेद बी परदीवाला को सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों के रूप में नियुक्त जाएगा. सोमवार को दोनों जज शपथ ले सकते हैं.

 

जस्टिस परदीवाला के सुप्रीम कोर्ट आते ही उनका नाम सुप्रीम कोर्ट पीठ में चौथे पारसी जज के रूप में दर्ज हो जाएगा. जस्टिस परदीवाला के शपथ लेने के साथ ही ये भी तय हो जाएगा कि वो अपनी बारी आने पर सवा दो साल सीजेआई भी रहेंगे. उनके जज बनने के साथ ही 2017 में जस्टिस सैयद अब्दुल नज़ीर की नियुक्ति के पांच साल बाद सुप्रीम कोर्ट में अल्पसंख्यक समुदाय से जज बनाए जाने की मिसाल होगी.

 

ऐसे में पांच साल बाद सुप्रीम कोर्ट में अल्प संख्यक समुदाय से कोई जज शपथ लेंगे. इसी के साथ उत्तराखंड हाई कोर्ट से दूसरे जज सुप्रीम कोर्ट बेंच का हिस्सा बनेंगे. बता दें कि अगले कुछ दिनों में जस्टिस विनीत शरण फिर जून में एल नागेश्वर राव, जुलाई में जस्टिस खानविलकर, अगस्त में चीफ जस्टिस रमणा, सितंबर में जस्टिस इंदिरा बनर्जी, अक्तूबर में जस्टिस हेमंत गुप्ता और नवम्बर में जस्टिस यूयू ललित चीफ जस्टिस के रूप में रिटायर होने वाले हैं.