पिछड़े क्षेत्रों के बच्चों को शिक्षा के महत्व को बताएंगे : श्यामलाल

सुलतानपुर। देर सायं विकास खण्ड दूबेपुर के ग्राम सभा ढखवा में मोस्ट कल्याण संस्थान के तत्वाधान में हरिश्चंद्र निषाद के नेतृत्व में व प्रधान शम्भू निषाद के संरक्षण में शिक्षा जागरूकता कार्यक्रम किया गया।
उक्त अवसर पर एम.जी.एस. इंटर कॉलेज सुलतानपुर के शिक्षक श्यामलाल निषाद “गुरुजी” ने कहा कि आज भी शिक्षा के महत्व से अनभिज्ञ होने के कारण पिछड़े वर्ग के बच्चे पठन-पाठन में रुचि नहीं लेते और स्कूल-कॉलेज से पढ़ाई बीच में छोड़ देते हैं, पिछड़े वर्ग के बच्चों में शिक्षा का महत्व से अवगत कराने व ज्यादा से ज्यादा बच्चे स्कूल-कॉलेज जायें और बीच में किसी कारण से पढ़ाई छोड़ते हैं तो उसका समाधान करने के उद्देश्य से हम लोग गाँव-गाँव शिक्षा जागरूकता का कार्यक्रम कर रहे हैं।
प्रधान योगेश निषाद ने कहा कि देश मे दोहरी शिक्षा का सर्वाधिक दुष्परिणाम अति पिछड़ों पर पड़ रहा है, जब देश एक है देश का संविधान एक है तो देश में सभी के लिए शिक्षा भी एक समान होनी चाहिए।
मोस्ट जिला संयोजक जीशान अहमद ने कहा कि मोस्ट कल्याण संस्थान मोस्ट पिछड़ों के बच्चों के पठन-पाठन को गति प्रदान करने के लिए हर सम्भव सहयोग प्रदान करेगा।
इस अवसर पर प्रधान शम्भू निषाद, मोस्ट ब्लाक प्रमुख दूबेपुर अरविंद निषाद, कोटेदार सनी निषाद, नारद निषाद, शिवसहाय निषाद, ज्ञान प्रकाश, झगरू निषाद, अनिल निषाद (भोंएँ), अंकित निषाद, अमित निषाद, अंकुर निषाद, सुमित निषाद, मुस्कान, अंशिका, पूनम, चांदनी, रोशनी, काजल, मोहित, कुसुम, शीला, बनकेश, इंद्रजीत, धीरज, रुची, सत्यम, जानकी, अमित, अनुराग, गोपी सहित दर्जनों लोग उपस्थित रहे।