Wednesday, July 24, 2024
उत्तर प्रदेश

भाजपा-आरएसएस ने धार्मिक उन्माद व नफरत के सिवाय किया ही क्या: लौटनराम निषाद

 

लखनऊ।जब देश 15 अगस्त 1947 को स्वतंत्र हुआ,सुई तक का निर्माण नहीं होता था।प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू व इंदिरा गांधी के प्रयास से देश तरक्की के मार्ग पर आगे बढ़ा।भारतीय ओबीसी महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौ.लौटनराम निषाद ने कहा भाजपा व आरएसएस सिर्फ धार्मिक उन्माद व साम्प्रदायिक व जातीय नफरत के अलावा देश की तरक्की के लिए किया ही क्या?भाजपा गड़े मुर्दे उखाड़कर नफरत पैदा करने में ही जुटी हुई है। भाजपा ने सिर्फ छल कपट, झूठ-फरेब व जुमलेबाजी की राजनीति कर बेरोजगारी, मंहगाई बढाकर देश को तबाह करने में ही जुटी हुई है।2014 तक देश पर 47 लाख करोड़ से भी कम विदेशी कर्ज था,जिसे मोदी सरकार ने बढाकर 125.8 लाख करोड़ तक पहुंचा दिया है जो मार्च 2023 तक बढ़कर 135 लाख करोड़ से अधिक हो जाएगा।भाजपा सरकार ने सिर्फ अडानी,अम्बानी जैसे चंद पूंजीपतियों को ही लाभ पहुंचाने का काम किया है।किसी व्यक्ति पर लाख दो लाख बकाया हो तो आरसी जारी कर दी जाती है,जेल में बंद कर दिया जाता है,दूसरी तरफ पूंजीपतियों के 68 हजार करोड़ के कर्ज को बट्टा खाता में डालकर माँफ कर दिया गया।उन्होंने कहा कि महिंदा राजपक्षे ने भी इसी तरह की नफरत सिंहलियों के अंदर तमिलों व मुस्लिमों के विरुद्ध पैदाकर 2050 तक सरकार चलाने का दावा कर रहे थे,वही सिंहलियों ने दौड़ा दौड़ाकर मंत्रियों व सत्ता पक्ष के सांसदों को पीटा, प्रधानमंत्री को जान बचाकर भागना पड़ा।वैसी ही स्थिति भारत में भी पैदा होने के आसार दिख रहे हैं।श्रीलंका की ही तरह भारत आर्थिक तबाही की ओर बढ़ रहा है।

निषाद ने कहा कि जवाहरलाल नेहरू जी ने देश के विकास व आत्मनिर्भरता के लिए तमाम कल-कारखाने,अधिष्ठान-प्रतिष्ठान,उपक्रम व संस्थान स्थापित कराए।कांग्रेस की सरकार ने ओएनजीसी, एनटीपीसी, गेल, सेल, भेल,रेल कारखाना,एयरपोर्ट, कोल इंडिया, पॉवर प्लांट,एचएएल, नदी घाटी बहुउद्देश्यीय परियोजनाओं को स्थापित कराया,कॉटन मिल,चीनी मिल लगवाया,नहरों का जाल बिछाया।जिससे देश खाद्यान्न के साथ हर क्षेत्र में आत्मनिर्भरता की ओर अग्रसर किया।इंदिरागांधी जी ने 864 केन्द्रीय विद्यालय स्थापित कराईं।राजीवगांधी जी ने 576 नवोदय विद्यालय बनवाए।

 

यूपीए के 10 वर्ष के शासन में 27
केन्द्रीय विश्वविद्यालय, 9 आईआईटी, 7 आईआईएम, 2 आईआईआईटी खोला गया।उन्होंने भाजपा प्रवक्ताओं व नीति-नियंताओं से मोदी जी द्वारा बनवाए गए स्कूल,कॉलेज,उपक्रम,संस्थान और विश्वविद्यालय की सूची उपलब्ध कराने की सूची उपलब्ध कराने की मांग किया है।
निषाद ने कहा कि धार्मिक उन्माद पैदा कर भाजपा अपनी कमियों पर पर्दा डालने का षडयंत्र कर रही है।भाजपा सरकार तमाम सरकारी संस्थानों, उपक्रमों का निजीकरण कर देश को बर्बाद करने में जुटी हुई है।उन्होंने कहा कि काशी व मथुरा के मुद्दे को सिर्फ लोकसभा चुनाव-2024 के लिए उभारकर जनता का ध्यान असल मुद्दों से हटाने की साज़िश है।उन्होंने पूछा है कि ज्ञानवापी मस्जिद का नाम ज्ञानवापी क्यों रखा गया?काशी विश्वनाथ मंदिर के इस भाग को किसने व क्यों तुड़वाया?मुगलों के सेनापति व सैनिक कौन थे और उनसे रिश्तेदारी कौन जोड़ा?राम व शिव आदि में इतनी बड़ी शक्ति थी तो वे तोड़ने वालों को क्यों नहीं मारे?शूद्र विरोधी रामचरित मानस में तुलसीदास ने बाबर,बाबरी मस्जिद और मुग़लों का उल्लेख क्यों नहीं किये?