समाजवादी पार्टी ने राज्यसभा में भेजने के लिए जयंत चौधरी का नाम घोषित किया

लखनऊ। समाजवादी पार्टी ने राज्यसभा के लिए तीसरे प्रत्याशी की भी घोषणा कर दी है और यह प्रत्याशी समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी नहीं बल्कि उनके सपा गठबंधन के साथी राष्ट्रीय लोक दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी होंगे।
मालूम हो कि उत्तर प्रदेश से राज्यसभा की सभी 11 सीटों पर निर्विरोध निर्वाचन की उम्मीद जताई जा रही है क्योंकि भारतीय जनता पार्टी 8 सीटों पर मजबूत स्थिति में है जबकि समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश में 3 सीटों पर मजबूती की स्थिति में है इनमें से 2 सीट पर समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी 24 मई को ही अपना नामांकन दाखिल कर आ चुके हैं इनमें कांग्रेश छोड़कर समाजवादी पार्टी में शामिल हुए वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल और मुरादाबाद मंडल के जाने वाले सपा नेता जावेद अली हैं। ऐसे में कल से ही यह चर्चा हो रही थी की तीसरे प्रत्याशी के रूप में समाजवादी पार्टी डिंपल यादव को राज्यसभा में भेजेगी क्योंकि वह पूर्व में सांसद रही हैं और अखिलेश यादव की पत्नी भी हैं लेकिन अंतिम क्षणों में समाजवादी पार्टी ने अपने निर्णय में बदलाव कर दिया और सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने अपनी अर्धांगिनी के बजाय गठबंधन मित्र को वरीयता दी और जैन चौधरी को उत्तर प्रदेश से राज्यसभा में भेजने का निर्णय लिया।

– राज्यसभा के सभी 11 सीटों पर हो सकता है निर्विरोध चुनाव।

– सपा अध्यक्ष के तीन सीट पर ही दावे के बाद 1 सीट के संघर्ष पर लगा विराम।

– अब भाजपा के 8 और सपा के 3 उम्मीदवार के राज्यसभा जाने की सम्भावना।

– विधायकों की संख्या बल के अनुसार भाजपा मजबूत।