Wednesday, July 24, 2024
क्राइमदेशधार्मिकराजनीतिविदेश

Kartarpur गुरुद्वारा परिसर में हुई नॉनवेज पार्टी, सिख समुदाय में रोष

 

 

पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं. ऐसा ही एक केस फिर सामने आया है, जिसने सिख समुदाय की भावनाओं को आहत कर दिया है. सिख समुदाय के लोग अब पाकिस्तान की सरकार से सख्त एक्शन लेने की मांग कर रहे हैं.

 

भावनाएं भड़काने का यह मामला पाकिस्तान में स्थित सिखों के पवित्र स्थल करतारपुर साहिब गुरुद्वारे से जुड़ा है. दरअसल, दो दिन पहले शनिवार (18-11-2023) को सिखों के पवित्र करतारपुर गुरुद्वारे (दरबार साहिब) के परिसर में एक पार्टी का आयोजन किया गया, जिसमें पाकिस्तान के कई बड़े अफसर मौजूद रहे. इस पार्टी में बारबेक्यू लगाया गया, जिसमें मांस से बनी चीजें पकाई गईं. बीजेपी नेता मनजिंदर सिंह सिरसा का दावा है कि इस पार्टी में शराब भी परोसी गई.

 

गुरुद्वारा दरबार साहिब की दर्शनी देवरी (मुख्य गेट) से सिर्फ 20 फीट दूर आयोजित की गई इस पार्टी में जमकर नाच-गाना भी हुआ. तीन घंटे तक चली यह पार्टी रात आठ बजे शुरू होकर 11 बजे तक चली, जिसमें करीब 80 लोगों ने भाग लिया. बताया जा रहा है कि इस पार्टी का आयोजन करतारपुर कॉरिडोर प्रोजेक्ट मैनेजमेंट (PMU) के CEO सैयद अबू बकर कुरैशी ने किया था. इस पार्टी में नरोवाल जिले के पुलिस उपायुक्त मोहम्मद शाहरुख के साथ पुलिस विभाग के कई अधिकारी मौजूद थे.

इस पार्टी के कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गए हैं, जिसके बाद दुनियाभर में सिख समुदाय से जुड़े लोग गुरुद्वारा परिसर में हुई इस पार्टी को लेकर भड़के हुए हैं. बता दें कि करतारपुर के गुरुद्वारा दरबार साहिब में ही पहले सिख गुरु गुरु नानक देव ने अपनी अंतिम सांस ली थी. इस पार्टी के बारे में जानकर सिख समुदाय के लोग इसलिए भी हैरान हैं, क्योंकि पार्टी में करतारपुर गुरुद्वारे के मुख्य ग्रंथी ज्ञानी गोबिंद सिंह भी मौजूद थे. पार्टी के दौरान वह पहली पंक्ति में बैठकर करतारपुर कॉरिडोर के CEO और मेजबान सैयद अबू बकर कुरैशी के साथ नाच-गाने का आनंद लेते रहे.

इस घटना के सामने आने के बाद सिख नेता और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय सचिव मनजिंदर सिंह सिरसा ने पाकिस्तानी अधिकारियों पर निशाना साधा है. उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर करते हुए कहा,’मैं गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब के पवित्र परिसर के अंदर शराब और मांस खाने से जुड़ी अपवित्र घटना की कड़ी निंदा करता हूं. यह निराशाजनक है कि करतारपुर गुरुद्वारा प्रबंधन समिति भी इसमें शामिल थी. मैं सभी जिम्मेदार लोगों के खिलाफ संपूर्ण और त्वरित कार्रवाई के लिए पाकिस्तान सरकार से तत्काल आग्रह करता हूं. पाकिस्तान सरकार को अल्पसंख्यकों की आस्था को कम नहीं करना चाहिए.

सिरसा ने इस घटना से जुड़े वीडियो शेयर करते हुए कहा कि करतारपुर कॉरिडोर PMU के सीईओ सैयद अबू बकर कुरैशी ने गुरुद्वारा श्री दरबार साहिब परिसर में मांसाहारी पार्टी का आयोजन किया. इससे गहरी निराशा हुई. दुनिया भर में सिख समुदाय उस पवित्र स्थल के इस अपमान से ठगा हुआ महसूस कर रहा है, जहां गुरु नानक देव जी ने अपनी अंतिम सांसें ली थी. इस घटना के खिलाफ त्वरित जवाबदेही और कार्रवाई की मांग की जाती है.