ओएमजी बुक ऑफ रिकॉर्ड होल्डर से सम्मानित हुए बेटा पढ़ाओ-संस्कार सिखाओ अभियान के संयोजक कवि हरीश शर्मा

लक्ष्मणगढ़ (सीकर)। बेटा पढ़ाओ-संस्कार सिखाओ अभियान को लेकर अपने लेख से समाज मे क्रांति लाने वाले कवि हरीश शर्मा को लगातार सकारात्मक लेख प्रकाशित करने हेतु ओएमजी बुक ऑफ रिकोर्डस में नाम दर्ज कर लिया गया है। यह जानकारी देते हुए अभियान के सह-संयोजक आकाश झुरिया ने बताया कि कवि शर्मा को उपखंड के ग्राम बीदासर स्थित लक्ष्य पब्लिक स्कूल में पत्रकारिता के क्षेत्र में किये गए उल्लेखनीय कार्यो को लेकर ओएम जी बुक ऑफ रिकॉर्ड्स-2021 से सम्मानित किया गया। यह सम्मान मुंबई से पधारे ओएमजी बुक ऑफ रिकॉर्ड्स के संस्थापक सदस्य प्रो.डॉ.दिनेश गुप्ता-आनंदश्री ने मैडल, प्रमाण-पत्र और रिकॉर्ड होल्डर विशेष स्टिकर से समान्नित किया। इस दौरान बेटा पढ़ाओ-संस्कार सिखाओ अभियान टीम सदस्यों द्वारा निरन्तर किये जा रहे सराहनीय कार्यो की सराहना की एवं अभियान को लेकर चर्चा की। इस अवसर पर कवि एवं समाजसेवी हरीश शर्मा ने सभी टीम का आभार माना और नई जिम्मेदारी मिलने का भी जिक्र किया।

एक जाना पहचाना मानवता की सेवा करने वाला चेहरा

हरीश शर्मा शेखावाटी में एक जाना-पहचाना चेहरा हैं। अपने सेवा कार्यो के जरिये जहां उन्होंने पूरे शेखावाटी व भारत देश के दूर-दराज के क्षेत्रों में योग्य व अनुभवी टीम बनाकर समाज की सेवा करने का जो कार्य शुरू किया था। आज वो कार्य सफलता के सोपान हासिल कर रहा है। पीड़ित मानवता की सेवा के साथ ही पीड़ितों की मदद तक का बीड़ा हरीश शर्मा और उनके निर्देशन में उनकी टीम ने उठाया। कोरोना काल में जिस सहृदयता का परिचय पत्रकार हरीश शर्मा के द्वारा दिया गया वो काबिले तारीफ है। वहीं हरीश शर्मा कवि भी हैं। शर्मा ने अपनी कविताओं के जरिए भी युवाओं को जागृत करने का बीड़ा भी उठाया है। इनमें वे काफी सफल भी रहे हैं। हरीश शर्मा ने बेटा पढ़ाओ-संस्कार सिखाओ अभियान भी चला रखा है। इसमें बेटों को संस्कारित कर एक दायित्ववान पुत्र के गुण प्रस्फुटित कर समाज सुधार की दिशा में किए जा रहे हरीश शर्मा के प्रयास वाकई सराहनीय है।

ओएमजी बुक ऑफ रिकॉर्ड्स-2021 में नाम दर्ज करने पर बेटा पढ़ाओ-संस्कार सिखाओ अभियान के संयोजक कवि हरीश शर्मा ने ओएमजी बुक ऑफ रिकॉर्ड्स के सीईओ, चीफ एडिटर प्रो.डॉ.दिनेश गुप्ता आंनदश्री का आभार प्रकट किया।