Moradabad: रिश्वत लेकर फर्जी मतदाता पहचान पत्र बनाने का मामला, बीएलओ निलम्बित

मुरादाबाद: पंचायत चुनाव पास आते ही फर्जी वोटों के बनने के सिलसिला भी शुरू हो गया है। अपनी जीत के लिए चुनाव लड़ने की मंशा पालने वाले फर्जी वोट बनवा रहे है। खास बात यह है की इस खेल में बीएलओ भी उनका साथ दे रहे है। ऐसा ही एक मामला जनपद के ब्लॉक भगतपुर टांडा के गांव रूस्तमपुर तिगरी से सामने आया है। जहां एक किसान नेता ने गांव में रह रहे 16 अज्ञात लोगों पर विदेशी होने का आरोप लगाया था। और साथ ही उसके द्वारा आरोप लगाया गया था इन सभी के फर्जी पहचान पत्र बनवा दिए गए हैं। हालांकि मामले की बड़े अधिकारियों से शिकायत की गई। जिसके बाद आनन-फानन में मामले की जांच के लिए टीम गठित कर दी गई। जिसमे यह साफ हो गया कि यह सभी लोग भारतीय नागरिक हैं, लेकिन इनके फर्जी पहचान पत्र बीएलओ द्वारा बनवाए गए हैं है। जिसके बाद क्षेत्रीय बीएलओ को बीएसए मुरादाबाद ने निलंबित कर दिया।
भगतपुर ब्लॉक के रुस्तमपुर तिगरी गांव में स्थानीय किसान नेता द्वारा एक प्रार्थना पत्र मंडल आयुक्त मुरादाबाद को सौंपा गया था, और प्रार्थना पत्र में किसान नेता द्वारा आरोप लगाया गया था। 16 अज्ञात लोग उनके गांव में आकर अपनी पहचान बदलकर रह रहे हैं, और वह सभी विदेशी हैं, जिसकी जानकारी मिलते ही जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में आला अधिकारियों द्वारा मामले की जांच करवाई गई है, शिकायतकर्ता नादिर द्वारा आरोप लगाया गया था। गांव में पहचान बदलकर रह रहे सभी लोग विदेशी है, और उन्होंने अपने फर्जी पहचान पत्र बीएलओ और गांव के प्रधान की मिलीभगत से तैयार करवा दिए जिसको लेकर शिकायतकर्ता ने मंडल आयोग से शिकायत की है। मंडल आयोग ने मामले की जांच करा के कार्यवाही के आदेश दिए हैं, जांच में बीएलओ दोषी पाए गए हैं। जिसमें दोषी पाए जाने पर उनको निलंबित कर दिया गया है, लेकिन देर रात सोशल मीडिया के जिला अधिकरी द्वारा बताया गया है सभी लोग भारतीय नागरिक हैं।

वहीँ बेसिक शिक्षा अधिकारी से बीएलओ कि निलंबन को लेकर बताया कि एक शिकायत प्राप्त हुई थी, जिसमें एसडीएम मुरादाबाद सदर द्वारा मामले की जांच की गई थी। जिसकी जांच रिपोर्ट मुख्य विकास अधिकारी मुरादाबाद को सौंप दी गई थी। जिस रिपोर्ट में यह बात साफ हो गई कि बीएलओ द्वारा पहचान पत्र बनवाने में लापरवाही बरती गई है। जिस पर कार्यवाही करते हुए लापरवाह बीएलओ को निलंबित कर दिया गया है।
देर रात मुरादाबाद के जिला अधिकारी द्वारा सोशल मीडिया के माध्यम से जानकारी दी गई है। सभी 16 लोग भारतीय नागरिक हैं। उनके द्वारा पहले से पहचान पत्र होने के बावजूद दोबारा पहचान पत्र बनवाया गया था। जिसकी जांच लेखपाल द्वारा की गई है। जांच के दौरान क्षेत्रीय बीएलओ की लापरवाही रही है। उसमें इन लोगों के द्वारा से पहचान पत्र और वोट बना दिए हैं, जो कि फर्जी माने जाएंगे जिसके आधार पर लापरवाह बीएलओ पर कार्यवाही विभाग द्वारा की जा चुकी है।