सड़क हादसे में ट्रैफिक पुलिस के सिपाई सहित 4 की मौत,पुलिस पर ये आरोप

मुरादाबाद। Delhi-Lucknow National Highway पर उस समय हड़कंप मच गया। जब एक Private बस खड़े कैंटर से जा टकराई। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि हादसे में पुलिसकर्मी सहित 4 लोगों की मौत हो गई। जबकि बस में सवार एक दर्जन के करीब लोग घायल हो गए। हादसे की सूचना पर पहुंची Police ने घायलों को District Hospital में भर्ती कराया और मृतकों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। हादसे की सूचना पर जिलाधिकारी और एसएसपी भी घटनास्थल पर पहुंचे और मौका मुआयना किया। ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस अवैध रूप से वाहन चेकिंग करती है। जिसकी वजह से हादसा हुआ है।

दरअसल मंझोला थाना क्षेत्र में आज सुबह 6:30 बजे ग्रामीण जब खेत पर जा रहे थे। तो अचानक दिल्ली-लखनऊ नेशनल हाईवे पर दो वाहनों के टकराने की आवाज सुनकर लोग हाइवे की ओर दौड़ पड़े। मौके पर जाकर देखा तो एक निजी बस महिंद्रा मिनी ट्रक में टक्कर मारते हुए बीच सड़क पर पलट गई। ग्रामीणों ने देखा कि हादसे के बाद पुलिसकर्मी लोगों की मदद करते हैं। लेकिन यहां बताया जा रहा है कि उल्टा पुलिसकर्मी हादसे के बाद अपनी अपनी गाड़ी लेकर भागते हुए नजर आए।

पुलिस कर्मियों पर आरोप

ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिसकर्मी यहां अवैध रूप से रोज सुबह को 6:00 बजे से 8:00 बजे तक चेकिंग करते हैं और दूसरे राज्यों के वाहनों को रोककर उनके कागजों में कोई कमी होने पर उनसे अवैध वसूली करते हैं। आज भी बिना किसी आदेश के तेज रफ्तार वाहनों के चलने वाले हाईवे पर बीच सड़क पर पुलिस वाले वाहन रुकवा कर चेकिंग कर रहे थे। जिस वजह से दिल्ली की दिशा से आ रही बस का चालक नियंत्रण खो बैठा और हादसा हुआ। इस हादसे में Traffic Police के सिपाई सहित 4 लोगो की मौत हुई है। बस सवार एक दर्जन लोग घायल हो गए।

सूचना पर पहुचें अधिकारी

हादसे की जानकारी मिलते ही जिलाधिकारी और एसएसपी सहित आला अधिकारी मौके पर पहुँचे। मुरादाबाद के SSP Pavan Kumar ने बताया कि आज सुबह पुलिस चेकिंग के दौरान बस बेकाबू होकर पलट गई जिसमें सिपाई सहित4 लोगों की मौत हो गई है। जबकि घायल लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उनका उपचार किया जा रहा है। हादसे के सही कारणों की भी जांच की जाएगी।

CM Yogi हादसे से दुःखी

इस हादसे के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी गहरा दुख प्रकट किया है। पीड़ितों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है। साथ ही मुख्यमंत्री ने जनपद के आला अधिकारियों को घायलों का बेहतर उपचार कराने के निर्देश दिए हैं।