राजनीति और अपराध के गठजोड़ का खुलासा, दो गिरफ्तार

मुरादाबाद। सिविल लाइंस पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। राजनीति और अपराध के गठजोड़ की गांठ खोलते हुए पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। मामला यह है कि जमीन के सौदे की रंजिश में युवती को पैसे देकर दो लोगों पर बलात्कार का आरोप लगाने के लिए आगरा से बुलाया था। पुलिस को मौका मुआयना करने पर घटना संदिग्ध लगी तो युवती से कड़ाई से पूछताछ की गई जिसपर पूरा मामला खुल गया।

पुलिस की तत्काल जांच में खुली साजिश

एसपी सिटी अखिलेश भदौरिया ने बताया कि सिविल लाइंस थाने पर युवती शिकायत लेकर पहुंची। युवती स्नेहा ने स्वयं को आगरा के सेक्टर 14, आवास विकास कालोनी, सिकंदरा की रहने वाली बताते हुए कहा कि वह काम की तलाश में यहां आई है। उसने आरोप लगाया कि किराए का कमरा देखने के लिए जब वह हिमगिरी कालोनी पहुंटी तो पहले से ही मौजूद दो लोगों ने उसके साथ बलात्कार किया। युवती ने तहरीर देते हुए दो लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग इंस्पेक्टर सिविल लाइंस से की। इंस्पेक्टर तत्काल महिला पुलिस कर्मियों के साथ मौके पर पहुंचे, लेकिन युवती मकान को नहीं पहचान सकी, जबकि जिन पर युवती बलात्कार का आरोप लगा रही हैं वह दोनो सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में युवती के साथ घर में जाते हुए और निकलते हुए नजर आए। युवती से जब सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने बताया की एक पार्षद उसे नौकरी का लालच देकर बुलाया था। उसने बताया कि उसे धमकी देकर उससे दो लोगों को बलात्कार के मुकदमे में फंसाने को कहा गया था।

मकान बेचने की रंजिश में बनाया प्लान

एसपी सिटी ने बताया कि राजेश त्यागी व लवी को गिरफ्तार कर लिया गया है। फरार पार्षद सद्दाम की तलाश की जा रही है। पार्षद सद्दाम करूला क्षेत्र का रहने वाला है। एसपी सिटी अखिलेश भदौरिया व सीओ सिविल लाइंस का कहना है कि पुलिस गंभीरता से जांच नहीं करती तो दो लोगों पर दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज होती और बेकसूर को जेल भी जाना पड़ता। पुलिस के मुताबिक राजेश व लवी ने बताया कि उनका मकान बेचने का सौदा सोनू त्यागी से हुआ था। सोनू ने किसी और को मकान बेच दिया। इसी रंजिश में उसे फंसाने के लिए सद्दाम के साथ मिलकर यह साजिश रची थी। पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने स्नेहा को भी जान से मारने की धमकी देकर फर्जी केस बनाने के लिए मजबूर किया था।