फेसबुक से प्यार और कत्ल की दर्दनाक कहानी, प्रेमिका समेत तीन गिरफ्तार

मुज़फ्फरनगर। बुढाना थाना प्रभारी जितेंद्र कुमार यादव व उनकी टीम ने मात्र 12 घन्टे में दिखा दिया और हत्या की घटना से पर्दा उठाते हुए हत्यारों को जेल भेजा दिया हैं।

पुलिस अधीक्षक देहात अतुल श्रीवास्तव ने प्रेस वार्ता में बताया कि बुढाना थाने पर 27 मार्च 22 को वादी द्वारा अपने भाई मुजम्मिल निवासी जौला के गुम हो जाने के सम्बन्ध में थाना बुढाना पर तहरीर दी गयी जिसके सम्बन्ध में थाना बुढाना पुलिस द्वारा गुमशुदगी दर्ज करते हुए बरामदगी हेतु टीम गठित की गयी थी। दिनांक 11 मई को गुमशुदा की तलाश के दौरान थाना बुढाना पुलिस को जानकारी प्राप्त हुई कि लगभग डेढ माह पूर्व एक व्यक्ति का शव थानाक्षेत्र नौचन्दी, मेरठ में मिला है, पहचान हेतु गुमशुदा के परिजनों को मेरठ ले जाया गया तो शव गुमशुदा मुजम्मिल का होना ज्ञात हुआ। जिसके उपरान्त थाना बुढाना पर तहरीर के आधार पर अभियोग पंजीकृत किया गया। शनिवार को उपरोक्त अभियोग में वांछित 02 अभियुक्त व 01 अभियुक्ता को 12 घण्टे के अन्दर थाना बुढाना पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार अभियुक्त व अभियुक्ता का गुलफशा पत्नी मुस्तफा निवासी डिडौली थाना मुरादनगर, गाजियाबाद हाल निवासी डवाईनगर थाना नोचंदी जनपद मेरठ व साजिद पुत्र एहसान अब्बासी निवासी शाहजहां कालोनी थाना लिसाडी गेट, मेरठ व वसीम पुत्र गुलामबक्शी अंसारी निवासी उपरोक्त। हत्या का कारण यह बताया जा रहा कि मृतक मुजम्मिल की फेसबुक के माध्यम से अभियुक्ता गुलफशा से दोस्ती हुई थी तथा प्रेम प्रसंग चल रहा था परन्तु जब मुजम्मिल गुलफशा को परेशान करने लगा तो उसने अपने दो साथियों गिरफ्तार अभियुक्त साजिद व वसीम के साथ मिलकर मुजम्मिल की हत्या कर दी।