टीएमयू मेडिकल कॉलेज में बताईं रिसर्च की बारीकियां

तीर्थंकर महावीर मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च सेंटर के सत्र 2021-22 पीजी ओरिएंटेशन प्रोग्राम का समापन, 112 नवागत एमडी, एमएस पोस्ट ग्रेजुएट स्टुडेंट्स ने की शिरकत

ख़ास बातें :-

  • प्रो. एसके जैन एथिक्स इन मेडिकल रिसर्च पर बोले
  • स्टडी डिजाइन की तकनीक प्रो. एसके गुप्ता ने बताई
  • सैंपल साइज कैसे लेंगे, समझाया डॉ. उम्मे अफीफा ने
  • डॉ. अनीस प्रभाकर ने बताए रिसर्च क्यूश्चन्स के तरीके

तीर्थंकर महावीर मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च सेंटर की ओर से पीजी ओरिएंटेशन प्रोग्राम के तहत एमडी, एमएस स्टुडेंट्स के अंतिम दिन रिसर्च थीसिस की बारीकियां समझाई गईं। इसमें मेडिकल के 112 नवागत छात्र-छात्राओं ने शिरकत की। ओरिएंटेशन प्रोग्राम के अंतिम दिन वाइस प्रिंसिपल एवम् एनाटॉमी के एचओडी प्रो. एसके जैन ने एथिक्स इन मेडिकल रिसर्च, कम्यूनिटी मेडिसिन विभाग के एचओडी प्रो. सुधीर कुमार गुप्ता ने स्टडी डिजाइन, कम्यूनिटी मेडिसिन विभाग की डॉ. उम्मे अफीफा ने सैंपल साइज और कम्यूनिटी मेडिसिन विभाग के ही डॉ. अनीस प्रभाकर ने रिसर्च क्यूश्चन्स, सैम्प्लिंग तकनीक आदि की बारीकियां बताईं। यह जानकारी फार्माकोलॉजी विभाग के एचओडी प्रो. प्रीथपाल सिंह मटरेजा ने दी। उन्होंने बताया, छात्रों को तीन बरस में रिसर्च थीसिस पर भी काम करना होता हैै। फाइनल एग्जाम से छह महीने पहले अपनी थीसिस सब्मिट करनी होती है।

उल्लेखनीय है, बतौर मुख्य अतिथि निदेशक प्रशासन श्री अभिषेक कपूर ने 16 मई को मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके पीजी ओरिएंटेशन प्रोग्राम का शंखनाद किया था। श्री कपूर ने इन नवागत स्टुडेंट्स का मार्गदर्शन करते हुए भरोसा दिया, यदि उन्हें भविष्य में किसी भी तरह की कठिनाई आए तो उनके लिए टीएमयू परिवार के द्वार 24 घंटे खुले हैं। इस प्रोग्राम में तीर्थंकर महावीर मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च सेंटर, मुरादाबाद के सत्र 2021-22 के 112 नवागत एमडी, एमएस पोस्ट ग्रेजुएट विद्यार्थियों ने शिरकत की। प्रोग्राम के फर्स्ट डे छात्र-छात्रओं का बारी-बारी से न केवल अपने करीब डेढ़ दर्जन से अधिक विभागाध्यक्षों एचओडी से इंट्रो हुआ बल्कि स्टडी मैटेरियल, कोर्स नॉलेज, फ्यूचर प्रोस्पैक्ट्स, एग्जाम पैटर्न और कॅरिकुलम की विस्तार से उन्हें जानकारी दी गई। निदेशक अस्पताल श्री अजय गर्ग और निदेशक अस्पताल पीएंडडी श्री विपिन जैन की भी फर्स्ट डे गरिमामयी मौजूदगी रही थी। प्रोग्राम के अंतिम दिन रिसर्च थीसिस पर विस्तार से जानकारी दी गई।

छह दिनी ओरिएंटेशन प्रोग्राम में प्राचार्या प्रो. श्यामोली दत्ता, मेडिसिन विभाग के एचओडी एवम् पीजी ओरिएंटेशन प्रोग्राम के ऑर्गेनाइजिंग चेयरमैन प्रो. वीके सिंह, आर्थोपैडिक्स के एचओडी एवम् पीजी ओरिएंटेशन प्रोग्राम में ऑर्गेनाइजिंग सेक्रेटरी प्रो. अमित सर्राफ के अलावा एन्सथिसिया विभाग के एचओडी प्रो. गुरदीप सिंह झीते, बायो केमिस्ट्री विभाग की एचओडी प्रो. संगीता कपूर, फॉरेंसिक मेडिसिन के एचओडी डॉ. प्रणब कुमार, माइक्रोबॉयोलॉजी विभाग के एचओडी उमर फारूख, पैथोलॉजी की एचओडी प्रो. सीमा अवस्थी, पैडिएट्रिक्स विभाग के एचओडी प्रो. रूपा सिंह राज भंडारी, फिजियोलॉजी विभाग के एचओडी प्रो. जयवल्लभ कुमार, साइक्रेटिक्स विभाग के एचओडी प्रो. नागेन्द्रन, रेडियोलॉजी विभाग के सतीश पाठक, सर्जरी विभाग के एचओडी प्रो.एनके सिंह आदि की उल्लेखनीय मौजूदगी रही।