आईजीआरएस की शिकायतों का निस्तारण गुणवत्ता पूर्वक किया जाए : जिलाधिकारी

बरेली। जिलाधिकारी श्री शिवाकान्त द्विवेदी ने समस्त सम्बंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि आईजीआरएस शिकायतों का निर्धारित समयावधि में निस्तारण किया जाए, शिकायतों को डिफाल्टर की श्रेणी में नहीं आना चाहिए। उन्होंने निर्देश दिए कि आईजीआरएस की शिकायतों से सम्बंधित एक रजिस्टर अवश्य बनाया जाए। उन्होंने कहा कि शिकायतों का निस्तारण गुणवत्ता पूर्वक एवं पारदर्शी प्रक्रिया से किया जाए।

जिलाधिकारी आज कलेक्ट्रेट सभागार में आईजीआरएस की शिकायतों से संबंधित समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक में अपर जिलाधिकारी प्रशासन श्री वीके सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. बलवीर सिंह, पुलिस अधीक्षक क्राइम श्री मुकेश प्रताप सिंह, उप जिलाधिकारी सदर श्री कुमार धर्मेंद्र सहित अन्य सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

जिलाधिकारी ने कहा कि आईजीआरएस पर शिकायतों तथा उनके निस्तारण का शासन स्तर पर नियमित रूप से अनुश्रवण किया जाता है। सभी विभाग आईजीआरएस पर प्राप्त शिकायतों का गंभीरता पूर्वक निर्धारित समय सीमा में प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सभी विभागों के स्थानीय प्रमुख यह सुनिश्चित करें कि उनके विभाग का कोई प्रकरण आईजीआरएस पर लंबित न रहने पाए।

जिलाधिकारी श्री शिवाकान्त द्विवेदी ने जनपद के समस्त अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रातः 10 बजे अपने कार्यालय में बैठकर जन समस्याओं को सुनकर उनका समयान्तर्गत निस्तारण किया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि आईजीआरएस पर प्राप्त होने वाली शिकायतों का ससमय निस्तारण न करने तथा डिफाल्टर की श्रेणी में आने पर सम्बंधित अधिकारी के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने नगर निगम, तहसील आंवला, बहेड़ी, मीरगंज, सदर, फरीदपुर, नवाबगंज, श्रम प्रर्वतन अधिकारी, लोक निर्माण विभाग, सहायक निबंधन सहकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी, परियोजना अधिकारी डूडा, जिला चकबंदी अधिकारी, अधिशासी अभियन्ता बाढ़ व नलकूप आदि विभागों को निर्देश दिए कि उनके विभागों से सम्बंधित आईजीआरएस पर जो शिकायतें लंबित हैं, उनका शीघ्र गुणवत्ता पूर्वक निस्तारण किया जाए।