दुर्गा वाहिनी का सात दिवसीय शौर्य प्रशिक्षण वर्ग शुरू

संभल। विश्व हिंदू परिषद के तत्वाधान में प्रतिवर्ष दुर्गा वाहिनी शौर्य प्रशिक्षण वर्ग सात दिवसीय जो कि इस बार प्रांत के रामपुर जिले में सरस्वती शिशु मंदिर में लगाया जा रहा है। संभल जिले से भी बहनों ने प्रतिभाग किया जिन का मनोबल एवं उत्साह बढ़ाने ते हुए समाजसेवी डॉक्टर चित्र वार्ष्णेय ने राम नाम पितांबर डालकर एवं तिलक लगाकर सा सम्मान विदाई की।
इस अवसर पर जिला अध्यक्ष अमित वार्ष्णेय ने कहा कि महिलाएं इस देश के भविष्य की सूत्रधार हैं। इस कारण महिलाओं को यह शिविर करना चाहिए ताकि वह शारीरिक एवं मानसिक रूप से मजबूत हो सके और कहां यह सीता और सावित्री का देश है। यह रानी पद्मावती का देश है जिन्होंने अपनी इज्जत बचाने के लिए अपनी16000 सखियों साथ जोहर किया था। यह देश कोई जमीन का टुकड़ा नहीं यह देश हमारी मां है और इस मां के आंचल में हम बड़े हुए हैं। अपनी मां की रक्षा करने के लिए हर समय हर पल दुर्गा के रूप में हमारी मातृ शक्ति तैयार है। विष्णु वार्ष्णेय हरिओम तोमर वैभव गुप्ता ने सभी बहनों को मीठा खिला कर उन्हें भारत माता के जयकारों के साथ विदाई दी। उपाध्यक्ष दीक्षा चौधरी ने कुछ इस तरीके की पंक्तियां कही
जो काम देश के आता है। व्यक्तित्व अमर हो जाता है।
इस अवसर पर मातृशक्ति संयोजिका दीपा वार्ष्णेय काव्या सिंह, कनिष्का, स्वाति ,अलका, आदि बहने उपस्थित रहे।